कैसे जाने की इम्यून सिस्टम कमजोर है?

इस पोस्ट के माध्यम से हम ये जानेगे की हमारा इम्यून कमजोर तो नही है अगर है तो उसका कारन क्या है? और हम खुद कैसे जान इसकी पहचान करे| -आज कल की भाग दौड़ की जिंदगी में हमारा खाना पीना एक दम से बदल गया है जिस वजह से हम फ़ास्ट गुड की तरफ ज्यादा आकर्षित हो गये है| वक्त कम होने की वजह से हम ये भी नहीं सोचते के जो हम खा रहे है उसका हमारे शरीर पर क्या असर पड़ेगा | और इसका नुकसान हमारे शरीर को तो होता ही है उससे पहले हमारे पाचन तंत्रर को होता है जिस पर हमारी सेहत टिकी होती है| इस पोस्ट के माद्यम से मैं आपको हमारे इम्यून सिस्टम के कमजोर होने का कैसे पता करे इस बारे में बताऊंगा|

आप जानते हैं कि इस समय कोरोनावायरस के फैलने का सबसे बड़ा कारण हमारी इम्युनिटी सिस्टम का कमजोर होना है। और साइंटिस्टों ने बड़े शोध के बाद की अगर हमारा यूनिटी सिस्टम यानी कि प्रतिरक्षा प्रणाली अगर मजबूत होगी, तो हम कोरोना वायरस से बच सकते हैं और उसे हरा भी सकते है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमें यह जानना बहुत जरूरी है कि हमारा इम्युनिटी सिस्टम कमजोर है या नहीं?

इम्यून सिस्टम / प्रतिरक्षा प्रणाली क्या है – What is Immune System?

इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली हमारे शरीर को सुरक्षित करने का एक प्रकार का सिस्टम है| यह है पर्यावरण के हानिकारक प्रभावों से हमें बचाता है| अगर हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत हो तो हम किसी भी तरह की बीमारियों के चपेट नही आते| अगर बीमार पड़ भी जाये तो जल्दी ही ठीक हो जाते है| इसलिए हमारी इम्यून सिस्टम का सक्रिय रहना बेहद ही जरूरी है|

अगर इम्यूनिटी मजबूत है तो हम सर्दी, खांसी, बुखार आदी से बीमारियों से आसानीसे बच जाते है| साथ ही इनफेक्शन, हेपैटाइटिस,  किडनी इनफेक्शन आदी कई बीमारियों से भी हमारा बचाव होता है|

हमारी इम्यून सिस्टम कितनी मजबूत है इसका पता हम ब्लड रिपोर्ट से जान सकते हैं| पर उसके साथ साथ हमारा शरीर भी हमें कई तरीकोंसे इसके बारे में बताता है|

ऐसे जान ले की इम्यून सिस्टम कमजोर है Weak-Immune-System-Signs

  • बार-बार बीमार होना constantly became sick

कुछ लोग थोडा सा मौसम बदलने पर भी बीमार हो जाते हैं| मौसम बदलने पर शरीर का तापमान बदलता है|
अच्छी इम्यून सिस्टम के लिए नॉर्मल शरीर का तापमान ३७ डिग्री होना चाहिए| हररोज व्यायाम करने से आप अपनी इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं|
अगर आप दूसरे लोगों की अपेक्षा ज्यादा बीमार रहते हैं|  सर्दी, जुकाम आदी की समस्या रहती है|
आपको खांसी होना, गला खराब होना, या त्वचा पर रैशेज जैसी समस्या रहती है| तो यह बहुत ज्यादा संभव है कि आपकी इम्यून सिस्टम कमजोर है|
पॉजिटिव कैंडिडा टेस्ट, मसूड़ों में सूजन, बार-बार यूटीआई, डायरिया, मुंह में छाले आदी भी कमजोर इम्यूनिटी के लक्षण हैं|

  • विटमिन डी की कमी Vitamin D Deficiency

विटमिन डी से इम्यूनिटी बढ़ती है| ज्यादातर लोगों में विटामिन डी की कमी पाई जाती है| अगर आपके शरीर में विटमिन डी की कमी है, तो आपको निन्मलिखित परेशानीयों का सामना करना पड़ सकता है| लगातार थकान, आलस, लम्बे समय तक घाव ना भरना, नींद न आना, डार्क सर्कल, डिप्रेशन आदी| यह सभी लक्षण भी कमजोर इम्यून सिस्टम की निशानी है|

  • बुखार ना आना No Fever

शरीर को बुखार आने की जरूरत होने पर भी अगर बुखार ना आए, तो इसका अर्थ है कि आपकी इम्यून सिस्टम कमजोर है| जब भी आपको कोई संक्रमण घेर लेता है| तब बुखार आता है| यह हमारे शरीर के लिए बेहद जरुरी है| इस समय हमारा शरीर बीमारियों से लड़ रहा होता है| और इस प्रक्रिया में शरीर का तापमान बढ़ने की वजह से हमें बुखार आता है| अगर आपको संक्रमण की बीमारीया जैसे की सर्दी आदी होने के बाद भी कई साल से बुखार नहीं आया है तो यह आपकी कमजोर इम्यूनिटी का लक्षण है|

अत:

इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको यह बताने की कोशीश की है कि इम्युनिटी सिस्टम कि हमारे शरीर को कितनी जरूरत है, और वर्तमान काल में जोकोविक नामक महामारी हमारे चारों तरफ फैली हुई है, जिसने भारत को ही नहीं, पूरी दुनिया में। बहुत ही कहर मचाया हुआ है। विश्व में ऐसा कोई देश नहीं है जो इस बीमारी से बच पाया हो सै। या इस बीमारी ने किसी को नुकसान न हो? तो हमें यह समझना चाहिए कि वर्तमान काल में हमारा यूनिटी सिस्टम जितना ताकतवर होगा हम उतना ही कोरोना जैसी बीमारियों से लड़ सकते हैं। विश्व का हर देश अपने नागरिक को अपना यूनिटी सिस्टम। को ताकतवर बनाने। और उसे सवस्थ रखने के हर तरीके अपनाने के लिए सलाह दे रहा है और हमे भी ऐसा ही करना चाहिए।

आशा है आपको “कैसे जाने की इम्यून सिस्टम कमजोर है weak-immune-system-signs यह जानकारी पसंद आई होगी|

निवेदन: इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया पर जरुर शेअर करे ताकि दूसरों को भी इसका फायदा हो सके|

Leave a Comment